मिस. रामप्यारी के ब्लाग पर आपका हार्दिक स्वागत है.

Saturday, March 21, 2009

सुत्रधार रामप्यारी की नमस्ते

आप सबको रामप्यारी की वैरी.. वैरी.. वैरी.. यानि कि तीन बार गुड मार्निंग
अंगरेजी वाली.



अब आप पूछोगे कि रामप्यारी आज ये तुझको सूबह पहले क्या होगया?
एक बार गुड मार्निंग करली..कोई बात नही दो बार करली...पर ये तीन बार
की बात समझ मे नही आई?



तो हुआ युं कि कल ताऊ अस्पताल मे एक आदमी आया. और अपनी विग
उतार कर बोला कि मेरे सर पर बाल उग सकते हैं कि नही?



अब आप तो डाक्टर ताऊ को जानते ही है कि बाल उगाना तो उसके लिये
मामूली बात है वो तो हाथ पैर खोपडी सब कुछ उगा सकता है.
आखिर भगवान ने एक अकेला ही डाक्टर अपनी तरह का बनाया है दुनियां में.



डा. ताऊ ने उसको भर्ती करवा दिया और फ़िर मैने उसका कैट-स्केन किया
और बीनू भैया ने उसका डाग-स्केन किया. सारा बिल मिलाकर उसका खर्चा
करवा दिया ७० हजार रुपया.


बिल देखते ही वो आदमी बोला - डाक्टर ताऊ, तुम्हारा बिल देखते ही मेरे बाल
खडे हो गये.



डा. ताऊ - अरे बावलीबूच.. बाल मैने तेरे सर पर उगाये तभी तो खडे हुये ना?
ऐसे ही थोडे खडे हो गये?


और वो आदमी रुपये देकर चला गया.



अब आप कहोगे कि रामप्यारी इसमे कौन सी नई बात हो गई? तुम और
ताऊ तो ये लूट और ठगी के धन्धे करने मे माहिर ही हो?



अब देखो रामप्यारी के पास फ़ालतू समय तो है नही खोटी करने के लिये.
मुझे अब खेलने भी जाना है आपको समझना हो तो समझो...वर्ना मेरे को क्या?
फ़िर मत कहना कि रामप्यारी तुम्हारे रहते हुये ये क्या बात हो गई?



हुआ युं कि..उस आदमी को घर जाके मालूम पडा कि उसके बाल तो हैं ही नही
और डाक्टर ने उसको बेवकूफ़ बना कर रुपये ले लिये हैं तो वो वापस आकर
अपने रुपये वापस मांगने लगा.

डाक्टर ताऊ बोला - अरे यार, यानि कि तुम भी कमाल के आदमी हो?
मैं भाटिया जी से उधार लिये हुये रुपये नही लौटाता तो तू है कौन से खेत की मूली?
जो तुझे मैं इलाज के रुपये लौटाऊं?



और वो आदमी अब जाकर धरने आंदोलन पर बैठ गया अपने रुपये वापस लेने
के लिये और ताऊ तो आप जानते ही हैं कि सरकार की तरह कान में तेल डालकर बैठा है.



मुझको मालूम है कि कुछ लोग रामप्यारी की बातों को गंभीरता से नही लेते.
तो रामप्यारी बता देती है कि आप बहुत गल्ती कर रहे हैं. जरा कभी २ बच्चों की
भी मान लिया करिये. वर्ना आपकी मर्जी. अब कोई जबरदस्ती का सौदा तो है नही
कि मानना ही पडेगा.



फ़िर भी जरा आसपास का माहौल और वातावरण भी देख लिजिये.
आज कई लोग सही को गलत कर गये हैं. फ़िर मत कहना कि रामप्यारी
ने बताया नही था.



कई लोग बिल्कुल सही बात को गलत कर गये हैं. अब रामप्यारी को ताऊ
और अल्पना आंटी से जूते तो खाना नही है जो साफ़ साफ़ बता दे कि आप
लोगों ने शहर मे गल्ती कर दी है. और पक्के से बता देती हूं..........नही नही..
जरा जबान फ़िसलने लगी थी मेरी.....



आप तो एक चाकलेट भी रामप्यारी के लिये लाये नही हैं.. अब रामप्यारी तो
चली अपने शनीवार की छुट्टी मनाने. जय राम जी की.....

और हां चलते चलते एक बात और अब रामप्यारी कल मिलेगी आपको बोनस
सवाल का जवाब लेकर..आपने जवाब दिया कि नही? अब रामप्यारी के सवाल
का आज कुछ जवाब ही नही है.:)

Friday, March 13, 2009

ताऊ चला पाकिस्तान : रामप्यारी

नमस्ते, आपको भी आश्चर्य हो रहा होगा कि आज अचानक ये राम्प्यारी को क्या गया जो ब्लाग लिखने बैठ गई ? तो आप नाराज मत होना. आपने जो चाकलेट रिश्वत मे भिजवाई थी वो तो मैं सब की सब चट कर गई. और बदले मे मैं आपको पेपर आऊट नही कर पाई. और ना ही जवाब बता पाई.

 

 

zardari-aur-taau

 

हुआ युंकि कल से ताऊ तो अचानक गायब होगया और ब्लाग पर पोस्ट सेट करके अल्पना आंटी ने लोक लगा दिया. अब जरा सी जान रामप्यारी से इतना बडा ताला खुल नही सकता. तो मैने आपको यह बताने के लिये यह पोस्ट लिखी है की आप की चाकलेट मुझ पर उधार रही. जब कभी मौका लगेगा मैं आपका हिसाब बराबर कर दूंगी. पर आप चाकलेट भेजना मत भुलियेगा.

 

अब आप पूछेंगे कि रामप्यारी, तुमने ये तो बताया ही नही कि ताऊ आखिर अचानक कहां गायब हो गया.  अब समझने वाली बात ये है कि हमको इस तरह बात इधर उधर करने की आदत तो है नही. फ़िर भी आपने पूछ ही लिया है तो बता देते हैं कि ताऊ फ़ुरसतिया अंकल के साथ पाकिस्तान गये हैं. दोनो कुछ आपस मे बात कर रहे थे कि अभी २४ घण्टे का मौका है. हाथ मार लो. फ़िर ऐसा मौका मिले या ना मिले.

 

हमारे पास पक्की सूचना है कि ताऊ तो वहां पहुंच गया है और फ़ुरसतिया अंकल वहां पहुंचने वाले हैं. और दोनो शायद कुछ कब्जा करने की बात कर रहे थे. मुझको जैसी भी सूचना मिलेगी मैं बताती रहूंगी. वैसे ताऊ ने मना किया था कि रामप्यारी इस बात की कानोंकान किसी को खबर नही होनी चाहिये. पर क्या करूं? मेरा तो दिल ही कुछ ऐसा है कि ऐसी मना की गई बात नही बताओ तो पेट मे दर्द होने लगता है.

 

पर आप ताऊ को मत बताना कि ये बात मैने आपको बताई है. और कुछ खबर मिलती है तो आपको बताऊंगी.

वैसे पाकिस्तान मे हालत ज्यादा खराब है. वहां कई ताऊ इकठ्ठे हो गये हैं और कुछ भी हो सकता है.





Saturday, March 7, 2009

हाय मैं हूं रा्मप्यारी

आप यहां आये आपका धन्यवाद.

अभी तो मैं ताऊ के ब्लाग पर ही लिखती हूं.

अगर कभी ताऊ ने तीन पांच की तो यहां लिखूंगी.

फ़ि्लहाल तो आप मेरी पोस्ट ताऊ के ब्लाग पर ही पढे.

आपका पुन: बहुत आभार.

सादर

मिस. रामप्यारी







Followers