मिस. रामप्यारी के ब्लाग पर आपका हार्दिक स्वागत है.

Saturday, March 21, 2009

सुत्रधार रामप्यारी की नमस्ते

आप सबको रामप्यारी की वैरी.. वैरी.. वैरी.. यानि कि तीन बार गुड मार्निंग
अंगरेजी वाली.



अब आप पूछोगे कि रामप्यारी आज ये तुझको सूबह पहले क्या होगया?
एक बार गुड मार्निंग करली..कोई बात नही दो बार करली...पर ये तीन बार
की बात समझ मे नही आई?



तो हुआ युं कि कल ताऊ अस्पताल मे एक आदमी आया. और अपनी विग
उतार कर बोला कि मेरे सर पर बाल उग सकते हैं कि नही?



अब आप तो डाक्टर ताऊ को जानते ही है कि बाल उगाना तो उसके लिये
मामूली बात है वो तो हाथ पैर खोपडी सब कुछ उगा सकता है.
आखिर भगवान ने एक अकेला ही डाक्टर अपनी तरह का बनाया है दुनियां में.



डा. ताऊ ने उसको भर्ती करवा दिया और फ़िर मैने उसका कैट-स्केन किया
और बीनू भैया ने उसका डाग-स्केन किया. सारा बिल मिलाकर उसका खर्चा
करवा दिया ७० हजार रुपया.


बिल देखते ही वो आदमी बोला - डाक्टर ताऊ, तुम्हारा बिल देखते ही मेरे बाल
खडे हो गये.



डा. ताऊ - अरे बावलीबूच.. बाल मैने तेरे सर पर उगाये तभी तो खडे हुये ना?
ऐसे ही थोडे खडे हो गये?


और वो आदमी रुपये देकर चला गया.



अब आप कहोगे कि रामप्यारी इसमे कौन सी नई बात हो गई? तुम और
ताऊ तो ये लूट और ठगी के धन्धे करने मे माहिर ही हो?



अब देखो रामप्यारी के पास फ़ालतू समय तो है नही खोटी करने के लिये.
मुझे अब खेलने भी जाना है आपको समझना हो तो समझो...वर्ना मेरे को क्या?
फ़िर मत कहना कि रामप्यारी तुम्हारे रहते हुये ये क्या बात हो गई?



हुआ युं कि..उस आदमी को घर जाके मालूम पडा कि उसके बाल तो हैं ही नही
और डाक्टर ने उसको बेवकूफ़ बना कर रुपये ले लिये हैं तो वो वापस आकर
अपने रुपये वापस मांगने लगा.

डाक्टर ताऊ बोला - अरे यार, यानि कि तुम भी कमाल के आदमी हो?
मैं भाटिया जी से उधार लिये हुये रुपये नही लौटाता तो तू है कौन से खेत की मूली?
जो तुझे मैं इलाज के रुपये लौटाऊं?



और वो आदमी अब जाकर धरने आंदोलन पर बैठ गया अपने रुपये वापस लेने
के लिये और ताऊ तो आप जानते ही हैं कि सरकार की तरह कान में तेल डालकर बैठा है.



मुझको मालूम है कि कुछ लोग रामप्यारी की बातों को गंभीरता से नही लेते.
तो रामप्यारी बता देती है कि आप बहुत गल्ती कर रहे हैं. जरा कभी २ बच्चों की
भी मान लिया करिये. वर्ना आपकी मर्जी. अब कोई जबरदस्ती का सौदा तो है नही
कि मानना ही पडेगा.



फ़िर भी जरा आसपास का माहौल और वातावरण भी देख लिजिये.
आज कई लोग सही को गलत कर गये हैं. फ़िर मत कहना कि रामप्यारी
ने बताया नही था.



कई लोग बिल्कुल सही बात को गलत कर गये हैं. अब रामप्यारी को ताऊ
और अल्पना आंटी से जूते तो खाना नही है जो साफ़ साफ़ बता दे कि आप
लोगों ने शहर मे गल्ती कर दी है. और पक्के से बता देती हूं..........नही नही..
जरा जबान फ़िसलने लगी थी मेरी.....



आप तो एक चाकलेट भी रामप्यारी के लिये लाये नही हैं.. अब रामप्यारी तो
चली अपने शनीवार की छुट्टी मनाने. जय राम जी की.....

और हां चलते चलते एक बात और अब रामप्यारी कल मिलेगी आपको बोनस
सवाल का जवाब लेकर..आपने जवाब दिया कि नही? अब रामप्यारी के सवाल
का आज कुछ जवाब ही नही है.:)

19 comments:

कुश said...

ये रामप्यारी तो शोले क़ी बसंती से मिलती जुलती है..

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

रामप्यारी को भी 'शू-प्रभात'

लवली कुमारी / Lovely kumari said...

रुक रामप्यारी चोकलेट तो लेती जा. मुझे तो तेरे हिंट्स भी पहेली की तरह लगे :-)

Dilip Gour said...

ट्रेफ़िक में ५ तो खो गई थी तो वो ही रह गयी होगी...

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

राम प्यारी मुझे तो यह बैगलोर का लालबाग लागे है

ajay kumar jha said...

haay aap to ram pyaaree kam raavan dulaaree jyaadaa lag rahee hain, kyaa khaa kar blogging kar rahee ho devi, mujhe pata hai jaldee hee sabkee baind bajaogee, bajate raho.

ड़ा.योगेन्द्र मणि कौशिक said...

रामप्यारी कब तक चाक्लेट के चक्कर में रहेगी। हमारे नेता तो वोट लेकर दिखते ही नहीं डॉ. ताऊ तो फिर भी फीस लेकर वापस मिल तो गये।

रचना गौड़ ’भारती’ said...

ब्लोगिंग जगत में स्वागत है
लगातार लिखते रहने के लि‌ए शुभकामना‌एं
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
http://www.rachanabharti.blogspot.com
कहानी,लघुकथा एंव लेखों के लि‌ए मेरे दूसरे ब्लोग् पर स्वागत है
http://www.swapnil98.blogspot.com
रेखा चित्र एंव आर्ट के लि‌ए देखें
http://chitrasansar.blogspot.com

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

AAKASH RAJ said...
This comment has been removed by the author.
AAKASH RAJ said...

गयी तो एसे ही पर ध्यान से अगली बार धन्नो के साथ ही आना

Vivek Ranjan Shrivastava said...

oai hoi pyari rampyari ji , bate to badi lovly karti ho ...

नारदमुनि said...

ram kee payari ko ram ram.

राज भाटिय़ा said...

अरी राम प्यारी तेरा नाम कया है जी ? अब यह कह के दिल मत तोडना कि जाओ मै नही बताती कि मेरा नाम राम प्यारी है, तो राम प्यारी अच्छे बच्चे की तरह से बता दो ना अकंल को अपना प्यारा सा नाम??

MAYUR said...

rampyari ji maje se rahiega , hamare ghar mein kuch chuhein hain, katarte rehte hain ,unse bachaiye


अच्छी जानकारी दी आपने


वाह जी वाह , मज़ा आ गया
धन्यवाद
अपनी अपनी डगर

अशोक पाण्डेय said...

ताउ की पहेली का तो पता नहीं चला, लेकिन रामप्‍यारी तुम्‍हारा ब्‍लॉग पढ़कर मजा आ गया।

bharat said...

wo photo to kamakhya mandir ki hai
guwahati waali

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

मेरा पुराना उत्तर रद्द करे जी। नया उत्तर है नैनिताल रोपवे

rambachan said...

rampyariji aap ke liye maine ek cup kadak "rampyaari"chay banake rakha hai, to please aake peelo na.

Followers