मिस. रामप्यारी के ब्लाग पर आपका हार्दिक स्वागत है.

Saturday, June 13, 2009

ताऊ पहेली -२६ की हिंट 2:30 बजे की

दोपहर बाद की नमस्ते…तो अब रामप्यारी आगई है अढाई बजे के इशारे के साथ. और ये आज का आखिरी इशारा होगा. आज रामप्यारी को हिंदी बोलने का मन हो रहा है तो अब आज रामप्यारी हिंदी मे ही बात करेगी. अब आप पूछोगे कि रामप्यारी आज ये हिंदी बोलने की झक कहां से सवार हो गई?

तो हुआ युं कि सुबह मैं अच्छी भली अंगरेजी बोल रही थी..और ताई ने मुझे डांट दिया कि ये फ़ाल्तू की गिटपिट गिटपिट करेगी तो तेरा मूंह तोड दूंगी.. मुझे नही तुडवाना अपना मूंह..क्या पता एक लठ्ठ ताऊ जैसा मेरे को भी मार दे तो? इसलिये अबसे शुद्ध हिंदी..अब ध्यान पुर्वक इस तस्वीर का अवलोकन किजीये और अपना उत्तर खोज लिजिये.


paheli-26-last clue[3] (1)
ताऊ पहेली - २६ की हिंट की तीसरी तस्वीर


अब रामप्यारी को प्रस्थान करने की आज्ञा दिजिये. आपका बाकी बचा दिन शुभ हो और शाम को कहीं बाहर जाकर घूम कर आये. और परिवार के साथ मोमबत्ती की रोशनी मे सांध्य भोजन ग्रहण करें. अब रामप्यारी कल परिणाम के साथ आपकी सेवा मे उपस्थित होगी. तब तक के लिये नमस्कार.




8 comments:

अविनाश वाचस्पति said...

लॉक कर दिया जाये गोवा है यह तो

राज भाटिय़ा said...

देखा यही से तो लंका जाने के लिये भगवान राम ने पुल भी बनवाया था, अब तो पक्का यनि हरी मिर्च ओर गुड, ताला लगा दो जी आंटी जी

मीत said...

रामप्यारी ये तुने अच्छा सोचा है की हिंदी बोलेगी...
i love hindi....
चल मेरी तरफ से जीतने की दूध-मलाई में तुझे देता हूँ...
और थोडी ताऊ से हरियाणवी भी सीख ले कम आयेगी...
मीत

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

यह तो गोवा का दृश्य है ।

Anil Pusadkar said...

एलिफ़ेण्टा केव्स ।

Anmol Saraf said...

yes this is goa

स्वप्न मंजूषा शैल said...

मुझे लगता है यह उड़ीसा का दृश्य है

स्वप्न मंजूषा शैल said...

rampyariji,
kripaya meri pahli entry ko khariz kar dein, mujhe lagta hai yah Kerala ka drishya hai

Followers