मिस. रामप्यारी के ब्लाग पर आपका हार्दिक स्वागत है.

Saturday, October 17, 2009

ताऊ पहेली - 44 का 11:30 बजे का हिंट

हाय..दिस इज रामप्यारी. आप तो नीचे के मस्त चकाचक फ़ोटो देखिये और जवाब दिजिये ताऊ डाट इन पर जाकर.


यह रहा पहला चित्र.



और ये नीचे रहा दुसरा हिंट का चित्र
.



और रामप्यारी अगला हिंट लेकर २:३० बजे फ़िर हाजिर होगी. तब तक मैं जरा ताऊजी डाट काम पर चक्कर लगा कर आती हूं. आप को वहां आना हो तोयहां चटका लगा कर आजाईयेगा.

4 comments:

अविनाश वाचस्पति said...

अभी तो दिल्‍ली लग रही है
15 अगस्‍त वाली

जिसके पड़ोस में मिलती है

मिलावटी मिठाई

नकली नोट

असली वोट

पर वे लूट लिए जाते हैं।

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

सुख, समृद्धि और शान्ति का आगमन हो
जीवन प्रकाश से आलोकित हो !

★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★

♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
ताऊ किसी दूसरे पर तोहमत नही लगाता-
रामपुरियाजी
हमारे सहवर्ती हिन्दी ब्लोग पर
मुम्बई-टाईगर
ताऊ की भुमिका का बेखुबी से निर्वाह कर रहे श्री पी.सी.रामपुरिया जी (मुदगल)
जो किसी परिचय के मोहताज नही हैं,
ने हमको एक छोटी सी बातचीत का समय दिया।
दिपावली के शुभ अवसर पर आपको भी ताऊ से रुबरू करवाते हैं।
पढना ना भूले। आज सुबह 4 बजे.
♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥


दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
हे! प्रभु यह तेरापन्थ

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

मिस. रामप्यारी
सुख, समृद्धि और शान्ति का आगमन हो
जीवन प्रकाश से आलोकित हो !

★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★

♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
ताऊ किसी दूसरे पर तोहमत नही लगाता-
रामपुरियाजी
हमारे सहवर्ती हिन्दी ब्लोग पर
मुम्बई-टाईगर
ताऊ की भुमिका का बेखुबी से निर्वाह कर रहे श्री पी.सी.रामपुरिया जी (मुदगल)
जो किसी परिचय के मोहताज नही हैं,
ने हमको एक छोटी सी बातचीत का समय दिया।
दिपावली के शुभ अवसर पर आपको भी ताऊ से रुबरू करवाते हैं।
पढना ना भूले। आज सुबह 4 बजे.
♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥


दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
हे! प्रभु यह तेरापन्थ
मुम्बई-टाईगर

राज भाटिय़ा said...

नाराय्ण नारायण स्वामी जी, को अरी राम प्यारी क्यो इन मंदिरो के चक्कर मै पड रही है, या ना तो नारायण ही मिलेगे हां स्वामी बहुत मिल जायेगे, ओर गद्दी के लिये झगडे भी बहुत मिल जायेगे, फ़िर दिल्ली जा या कही ओर अगर अब भी नही समझी तो जा फ़िर दिपावली मना

Followers